प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना 2019-2020

प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना (PM Kisan Samman Nidhi Yojana in hindi) 2019-2020 [लिस्ट, आवेदन फॉर्म ऑनलाइन, पंजीकरण, लास्ट डेट, अमाउंट, सुधार कैसे करें] [How to apply, Application Form Online, Eligibility, Check Status, Beneficiary List Name Check, Login @pmkisan.gov.in]

प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के अंतर्गत किसानों को केंद्र सरकार द्वारा सालाना तौर पर आर्थिक सहायता दी जा रही है, ताकि किसान अपनी आय को दोगुना करने के सरकार के उद्देश्य को पूरा कर सकें. इस आर्थिक सहायता के जरिए किसान खेती से जुड़े कार्यों को आसानी से कर सकेगा. इस योजना की संपूर्ण जानकारी किस आर्टिकल में दी गई है.

pm kisan samman nidhi scheme

1 नाम प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना
2 शुरुवात मोदी जी द्वारा
3 लाभार्थी भारत के किसान
4 लाभ छह हजार सालाना
5 उद्देश्य किसानों की आय को दोगुना करना
  शिकायत कहाँ करे pmkisan-ict@gov.in
7 पोर्टल pmkisan.gov.in
8 टोलफ्री हेल्पलाइन नंबर 011-23381092

प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना

इस योजना को पीएम किसान योजना के नाम से जाना जाता है, इस योजना के अंतर्गत केंद्र सरकार द्वारा किसानों के खाते में 6000 रुपये वार्षिक तौर पर जमा किए जाने हैं.  6000 रुपये की राशि को किसानों के खाते में 3 समान किस्तों में जमा करवाया जाएगा. प्रत्येक किश्त में 2000 रुपये किसानों के खाते में जमा किए जाते हैं. इस योजना के अंतर्गत पैसा सीधे किसानों के खाते में डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर सुविधा के जरिए ट्रांसफर किए जाते हैं अर्थात इस योजना के अंतर्गत किसी भी प्रकार का चेक या कैश मनी किसानों के हाथों में नहीं दी जाती है.

प्रधानमंत्री किसान योजना पात्रता नियम क्या है

इस योजना के अंतर्गत भारत देश में रहने वाला कोई भी किसान लाभ ले सकता है चाहे वह किसी भी राज्य का रहवासी हो क्योंकि इस योजना  का भार केवल केंद्र सरकार ने उठाया है.  इसमें राज्य सरकार से संबंधित कोई भी बजट नहीं लिया गया है इसीलिए इस योजना का लाभ भारत देश के रहने वाले किसी भी किसान नागरिक को मिल सकता है.

 परंतु इसके अंतर्गत कुछ नियम सरकार द्वारा तय किए गए हैं जो कि इस प्रकार हैं

  1. राजनीतिक पद पर आसीन कोई भी किसान इस योजना के अंतर्गत शामिल नहीं हो सकता फिर चाहे वह भूतकाल में राजनीतिक पद पर ही क्यों ना हो.
  2. सरकारी कार्यालय के अंतर्गत कार्य करने वाला सरकारी कर्मचारी जो कि एक किसान भी है, वह भी इस योजना के अंतर्गत शामिल नहीं हो सकता.
  3. वे किसान जो सरकार से 10000 रुपये से अधिक मासिक पेंशन ले रहे हो. वह भी इस योजना के अंतर्गत लाभ नहीं ले सकते.
  4. वे किसान जो कि अपनी आय का टैक्स अदा करते हैं, वे भी इस योजना के अंतर्गत शामिल नहीं हो सकते.
  5. पेशेवर किसान या ने कि डॉक्टर, इंजीनियर, वकील एवं आर्किटेक्ट जैसी डिग्री लेकर कार्य करने वाले किसान भी इस योजना का हिस्सा नहीं बन सकते.

इस योजना के अंतर्गत किसानों को कौन-कौन से दस्तावेज देने होंगे

  1. सबसे महत्वपूर्ण दस्तावेज वे हैं जो कि यह साबित करते हैं कि किसान अधिकारिक भूमि का मालिक है इसके लिए किसान को खसरा खतौनी की कॉपी जमा कराना जरूरी है.
  2. किसानों को पैसा उनके बैंक खाते में सरकार द्वारा भेजा जाएगा, इसीलिए किसानों को बैंक संबंधी दस्तावेज में पासबुक की फोटो कॉपी लगाना भी अनिवार्य है. साथ ही अपने बैंक का आईएफएससी कोड भी देना जरूरी है.
  3. हाल ही में सरकार ने इस योजना के अंतर्गत आधार कार्ड को अनिवार्य कर दिया गया है, अब तक 3 किस्ते बिना आधार कार्ड के किसानों के खाते में जमा कराई जा चुकी है, परंतु चौथी किस्त जो कि संभवतः 2020 में दी जाएगी, उसे बिना आधार कार्ड के नहीं दिया जाएगा.
  4. इसके अलावा किसान को अपना मोबाइल नंबर भी जोड़ने की जरूरत है क्योंकि योजना संबंधी किसी भी तरह की जानकारी मोबाइल पर SMS के द्वारा ही भेजी जाएगी.

 यह सभी दस्तावेज बहुत ही सावधानी से फॉर्म के साथ जमा करना जरूरी है, क्योंकि अगर यह दस्तावेज गलत होंगे तो किसानों के फॉर्म रिजेक्ट कर दिए जाएंगे और उनका नाम लाभार्थी सूची में नहीं जुड़ सकेगा.

ऑनलाइन पंजीयन (PM Kisan Yojana Online Apply)

  1. योजना के अंतर्गत ऑनलाइन पंजीयन कराने के लिए केंद्र सरकार द्वारा एक पीएम किसान ऑनलाइन पोर्टल लॉन्च किया गया है, इस पोर्टल के होम पेज पर न्यू फार्मर रजिस्ट्रेशन हाइपरलिंक दिया गया है जिसे क्लिक करके किसान इस योजना के अंतर्गत ऑनलाइन आवेदन कर सकता है।
  2. दी गई लिंक को क्लिक करने के बाद किसानों को अपना आधार नंबर भरना होगा और साथ ही कैप्चा कोड भी सही तरीके से डालना होगा, जिसके बाद अगर किसान का आधार कार्ड इस योजना से जुड़ा हुआ है तो किसान को यह प्रक्रिया करने की जरूरत नहीं है लेकिन अगर उसका आधार कार्ड योजना से जुड़ा हुआ नहीं है तो वह योजना के लिए पंजीयन करवा सकते हैं लेकिन यह  केवल आगामी तीन किस्तों के लिए ही संभव था लेकिन अभी चौथी किस्त के लिए यह अनिवार्य है कि किसान अपना आधार कार्ड इस योजना से जोड़ें.
  3. ऑनलाइन पोर्टल के जरिए किसान एक फॉर्म को भर कर इस योजना के अंदर आसानी से पंजीयन करवा सकता है.

ऑफलाइन पंजीयन (PM Kisan Yojana Offline Process)

 इस योजना के अंतर्गत ऑफलाइन भी पंजीयन कराया जा सकता है जिसके लिए किसानों को नजदीकी सीएससी सेंटर अथवा ग्राम पंचायत में संपर्क करना होगा.  इस कार्यालय के कर्मचारियों द्वारा किसानों के फॉर्म को जांचा परखा जाएगा और उसके बाद अगर वह किसान उपयुक्त हैं तो उनका नाम लाभार्थी सूची में दर्ज करवा दिया जाएगा.

इस योजना के अंतर्गत कई तरह के कैंप भी लगाए गए थे जिससे किसान आसानी से इस योजना  के लिए पंजीयन करवा सकें. आगामी कैंप कब लगने वाले हैं इसकी जानकारी किसान अपने नजदीकी तहसील कार्यालय से प्राप्त कर सकते हैं.

प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना लिस्ट कैसे देखें (How to check Beneficiary name Online)

  1. लाभार्थी सूची में किसानों का नाम दर्ज हुआ है या नहीं इसकी जानकारी के लिए भी किसान ऑनलाइन पोर्टल पर जाकर देख सकते हैं. इसके लिए किसानों को फार्मर कॉर्नर पर क्लिक करना होगा. जहां पर उन्हें बेनिफिशियरी लिस्ट का एक विकल्प दिखाई देगा.
  2. इस विकल्प पर क्लिक करने के बाद उन्हें अपने राज्य, जिला एवं ब्लाक की जानकारी भरनी पड़ेगी, जिसके बाद एक सूची उनके स्क्रीन पर खुलेगी जिसमें किसान अपना नाम देख सकते हैं. अगर किसानों का नाम इस लाभार्थी सूची में दर्ज हो गया है तो उन्हें सरकार की तरफ से किश्ते से मिलना शुरू हो जाएंगी.

पीएम किसान योजना के लिए ऑफलाइन आवेदन कैसे करें? (PM Yojana Application Process Offline)

 अगर किसान स्वयं ऑनलाइन पोर्टल पर जाकर अपनी जानकारी नहीं देख सकता है तो ऐसी स्थिति में किसान नजदीकी सीएससी सेंटर पर जाकर अपनी जानकारी प्राप्त कर सकता है.

योजना का स्टेटस कैसे चेक करें? (How to check status?)

  1. किसान अपने किश्तों की स्थिति भी ऑनलाइन तरीके से जान सकते हैं. इसके लिए भी किसानों को आधिकारिक पोर्टल पर जाना होगा। जहां पर फार्मर कॉर्नर के अंतर्गत किसान अपने किश्तों का स्टेटस पता कर सकते हैं.
  2. इसके लिए वेबसाइट पर 3 तरीके दिए गए हैं जिनके अनुसार आधार कार्ड नंबर, अकाउंट नंबर अथवा मोबाइल नंबर के जरिए किसान पता कर सकता हैं कि उनके खाते में किस्त जमा हुई है या नहीं.

पीएम किसान योजना करेक्शन कैसे करे ?

पीएम किसान योजना के अंतर्गत कई लाखों किसानों के फॉर्म रिजेक्ट भी हो रहे हैं और इस तरह उनका नाम लाभार्थी सूची में दर्ज नहीं हो पा रहा है, बल्कि रिजेक्ट सूची में आ रहा है. इसके पीछे सबसे बड़ा कारण यह बताया जा रहा है कि किसानों ने अपने फॉर्म को भरते समय कई तरह की गलतियां की है इसीलिए सरकार ने पीएम किसान पोर्टल में यह ऑप्शन दिया है जिसके जरिए किसान अपने फॉर्म में करेक्शन कर सकते हैं.

  1. इसके लिए किसान स्वयं पोर्टल पर जाकर फॉर्मर सेक्शन के अंतर्गत आधार फेलियर रिकॉर्ड विकल्प पर क्लिक कर सकते हैं, जिसके बाद किसानों से उनका आधार नंबर पूछा जाएगा जिसे सही तरह से भरकर किसान अगले स्टेप पर पहुंच जाएगा.
  2. इसके बाद किसान द्वारा भरी गई पूरी जानकारी स्क्रीन पर दिखाई जाएगी, इस जानकारी के अंतर्गत जो भी जानकारी गलत भरी है, उस पर रेड मार्क दिखाई देगा.
  3. किसान साइड में बने एडिट के ऑप्शन को क्लिक करके अपने द्वारा भरी गई गलत जानकारी को सही करके, सबमिट कर सकता है और इस तरह किसान अपनी निजी जानकारी संबंधित गलतियों को सुधार सकता है.

 सीएससी सेंटर द्वारा करेक्शन

  1. हाल ही में सरकार ने इस वेबसाइट में सीएससी सेंटर के लिए भी एक लॉगइन शुरू किया है जिसके जरिए किसान सीएससी सेंटर पर जाकर भी अपने फॉर्म में भरी गई लक जानकारी को सीएससी सेंटर अधिकारियों द्वारा सुधरवा सकता है.
  2. ज्यादातर किसानों द्वारा बैंक डिटेल में संबंधी जानकारी ही गलत भरी गई है, इस तरह की जानकारी को सीएससी सेंटर द्वारा सही किया जा सकता है.

Other links –

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *